UP के साधुओं के साथ AKHILESH, साधुओं पर राजनीति शर्मनाक | BHARAT EK SOCH

देश में क्या हो रहा है..कोई विकासवादी बात नहीं..आगे बढ़ने की बात नहीं..सारे विदेशी कोरोना वैक्सीन बनाने के कॉम्पटीश में लगे हैं..भारत में क्या हो रहा है..यहां इस बात की चर्चा है कि जमाती कौन हैं..हिंदू कौन हैं..साधुओं को किस जात और धर्म के लोगों ने मारा..कोरोना पीड़ित मुसलमान बिरियानी क्यों खाना चाहते हैं..भारत ने कोरोना जैसी महामारी में भी नफरत खोज ली है..और सब खुश हैं..भारत में कोरोना मुसलमानों ने कोरोना फैला दिया वर्ना मोदीजी यहां कुछ होने ही नहीं देते भक्त ये प्रचार करके मौज में हैं..और लोग उलझे हुए हैं.

आज की चौकाने वाली खबर सुनते चलिए..महाराष्ट्र के पालघर में दो साधुओं की मॉब लिंचिंग के बाद अब उत्तर प्रदेश में साधुओं की हत्या की वारदात सामने आई है. बुलंदशहर के अनूपशहर कोतवाली में दो साधुओं की हत्या कर दी गई. मंदिर परिसर में सो रहे दो साधुओं पर धारदार हथियार से वार किया गया है. भीड़ ने आरोपी को पकड़कर पुलिस को सौंप दिया है.
जानकारी के अनुसार, अनूपशहर कोतवाली के पगोना गांव में एक शिव मंदिर है. मंदिर में रहने वाले 55 साल के साधु जगनदास और 35 साल के साधु सेवादास की सोमवार रात हत्या कर दी गई है. मंगलवार सुबह जब ग्रामीण मंदिर पहुंचे तो साधुओं के लथपथ शव देखकर भड़क गए. देखते ही देखते मंदिर में सैकड़ों लोगों की भीड़ इकट्ठा हो गई.
 
 
इस बीच ग्रामीणों ने एक शख्स पर शक जताया. इसके बाद उसकी जबरदस्त पिटाई की गई. घटना की सूचना पाकर मौके पर पुलिस फोर्स पहुंच गई और आरोपी शख्स को अपनी कस्टडी में ले लिया...
अखिलेश यादव ने इस घटना पर दुख जताया है..मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ महाराष्ट्र के पालघर में हुई घटना पर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री से कार्रवाई की मांग कर रहे थे..जबकि इनके अपने प्रदेश में आंधेर गर्दी मची हुई है खैर अखिलेश यादव ने इस घटना पर ट्वीट किया है..((tweet अखिलेश ने कहा कि यूपी के बुलंदशहर में मंदिर परिसर में दो साधुओं की नृशंस हत्या अति निंदनीय व दुखद है. इस प्रकार की हत्याओं का राजनीतिकरण न करके, इनके पीछे की हिंसक मनोवृत्ति के मूल कारण या आपराधिक कारण की गहरी तलाश करने की आवश्यकता होती है. इसी आधार पर समय रहते न्यायोचित कार्रवाई करनी चाहिए.

Comments