LOCKDOWN से कोरोना खत्म नहीं होगा, AKHILESH - RAHUL ने खोली पोल | BHARA...

मोदी जी ने जो लॉकडाउन लगाया है क्या उससे कोरोना खत्म हो जाएगा..देश कोरोना से जीतकर बाहर निकलेगा..ऐसा बिल्कुल नहीं है...अगर आपने ये गलतफहमी पाल रखी है तो सच से सामना करिए..लॉकडाउन से कोरोना को और फैलने से रोका जा सकता है..कोरोना को खत्म नहीं किया जा सकता..आप जब तक घरों में कैद हैं तब तक ठीक है..लेकिन सवाल ये है कि आप कब तक घरों में कैद रहेंगे..कभी ना कभी तो सरकार को लॉकडाउन खत्म करना पड़ेगा..लॉकडाउन किसी भी हाल में कोरोना का सैल्यूशन नहीं है..इसे ऐसे समझिए कि लॉकडाउन किसी वीडियो का केवल एक पुश बटन है..जब तक पुश है तब तक वीडियो नहीं चलेगा लेकिन जब आप वीडियो फ्ले करेंगे तो वीडियो में जो भी है वो दिखाई तो देगा ही..वीडियो डिलीट तो नहीं हो जाएगा..वीडियो डिलीट करना है तो पुश बटन नहीं डिलीट का ऑप्शन चुनिए..और कोरोना केवल घर में रहकर डिलीट नहीं हो सकता इसके लिए सरकार को काम करना पड़ेगा..बहुत तेजी से टेस्टिंग करनी पड़ेगी जब आप टेस्ट करोगे तब तो पता चलेगा कहां कौन कोरोना वायरस पॉजिटिव हैं..सरकार रोज हजारों लोगों के टेस्ट करने का दावा कर रही है..लेकिन आप सोचिए कि आपके मोहल्ले में आपके इलाके में टेस्टिंग हुई है या नहीं..अगर नहीं हुई है तो सरकारी दावे का हाल खुद ही समझ जाइये..लॉकडाउन से कोरोना खत्म नहीं होगा..


इस पर राहुल गांधी ने पहली बार सामने आकर पत्रकारों के जवाब में ये सब बातें कहीं..अखिलेश यादव का बार बार यही कहना है कि टेस्टिंग कीजिए तभी तो पता चलेगा कहां कितने केस हैं.. अखिलेश ने ट्वीट करके कहा था कि लॉक डाउन को बढ़ाये जाने की तार्किक माँग, तब ही सार्थक साबित होगी जब कोरोना की सघन जाँच हो व स्वास्थ्यकर्मियों को चतुर्दिक सुरक्षा तथा जनता को आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति मिल सके.नकदी की समस्या को खत्म करने के लिए बैंकों के साथ गाँव-मुहल्ले, कॉलोनी स्तर पर व्यवस्था करनी होगी...इसी बीच  कुछ लोग ये भी कानाफूसी करते हैं कि सरकार की बदनामी ना हो बाद में जय जय हो सके कि भारत में कोरोना के आंकड़े सरकार ने नहीं बढ़ने दिए इसलिए सरकार आंकड़े भी छिपा रही है...कोरोना से देश में बहुत बुरी स्थिति है..लोगों का क्या है लोग कुछ भी कह सकते हैं आप इसे इग्नोर भी कर सकते हैं..आपको बताई गई खबर या जानकारी में सभी तथ्य सौ फीसदी सच हैं..

Comments