कोरोना में सरकारी खजाना साफ, देश के साथ धोखा, मक्कार भगोड़ों का कर्ज माफ...

कोरोना से एक तरफ करोड़ों लोगों का रोजगार चौपट है..कोरोड़ों मजदूर बेरोजगार हैं..देश में दवा दारू के पैसे नहीं हैं..डॉक्टरों के पास दस्ताने मास्क तक नहीं हैं..हालात ये हैं कि खाली खजाने को भरने के लिए अकेले यूपी में ही 16 लाख सरकारी कर्मचारियों के पैसे काटे जा रहे हैं..प्राइवेट नौकरियां या तो चली गई हैं या फिर तन्ख्वाह आधी से ज्यादा काट ली गई है..कोरोना की इस हाहाकारी समस्या के बीच सरकार का शर्मनाक..और मक्कारी भरा..कदम सामने आ गया है..सरकार ने 50 बड़े विलफुल मक्कारों  के अरसठ हजार 6 सौ सात करोड़ रुपए माफ कर दिए हैं..आप पीएम केयर फंड में पैसा डालिए..आप सीएम केयर फंड में डालिए..दान कीजिए..खुद लुकर भी देश के नाम पर देशसेवा करिए लेकिन ये भी देखिए कि आपका पैसा जा कहां रहा है..

 
देश के बैंकों ने तकनीकी तौर पर 50 बड़े विलफुल डिफाल्टर्स के 68,607 करोड़ रुपए के कर्ज की बड़ी राशि को को बट्टा खाते में डाल दिया है। इन डिफॉल्टर्स की सूची में भगोड़ा हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी भी शामिल है। ये बात भारत के लोगों के सामने आ ही नहीं पाती अगर भारतीय रिजर्व बैंक से सूचना के अधिकार कानून के तहत जानकारी ना मांगी गई होती..
आरटीआई कार्यकतार् साकेत गोखले ने सूचना का अधिकार कानून के तहत ब्योरा मांगा क्यंकि वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण और वित राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर ने सांसद राहुल गांधी के 16 फरवरी को पूछे गए सवाल का जवाब देने से इनकार कर दिया था..अब पता कि गरीबों का खून चूसने वाली सरकारें धन्नासेठों से कैसा याराना रखती हैं..इसे देश में कुछ हजार लोन ना चुका पाने पर किसानों को आत्महत्या करने पर मजबूर कर दिया जाता है और और इसी देश में हजारों करोड़ माफ किया जा रहा है..
 
इन डिफाल्टर्स की सूची मेहुल चोकसी की कंपनी गीतांजलि जेम्स लिमिटेड शीर्ष पर है, जिस पर 5,492 करोड़ रुपये का कर्ज है। इसके अलावा, गिली इंडिया लिमिटेड और नक्षत्र ब्रांड्स लिमिटेड ने क्रमश: 1,447 करोड़ रुपये और 1,109 करोड़ रुपये का कर्ज लिया था। चोकसी इस समय एंटीगुआ और बारबाडोस द्वीप समूह के नागरिक है जबकि उसका भांजा व भगोड़ा हीरा कारोबारी नीरव मोदी इस समय लंदन में है।
समाजवादी पार्टी के तेज तर्रेर नेता और अखिलेश के बायां हाथ माने जाने वाले सुनील सिंह साजन ने कहा कि..
TWEET SUNIL SING SAJAN
मोदीराज में जिस मेहुल चौकसी को 8000 करोड़ रुपये का घोटाला करने के बाद विदेश जाने दिया गया था उसके सहित 60 हजार करोड़ रुपये के कर्ज RBI ने बट्टे खाते में डाल दिये। यानी अब ये कर्ज डूबा मान लिया गया। कर्मचारियों के भत्ते और जनता का खून चूसने वाली सरकार का यह असली चेहरा है।

Comments