AKHILESH की हुंकार, BJP के बेलगाम सांसद SUBRAT PATHAK पर रासुका लगाओ | B...

कन्नौज के बीजेपी सांसद सुब्रत पाठक ने अपने लोगों को खाने के पैकेट ना बांटे जाने पर तहसीलदार को घर में घुसकर बीवी बच्चों के सामने खूब पीटा था..सवाल है कि क्या बीजेपी के शासन में

किसी सांसद को सरकारी कर्मचारी को घर में घुसकर मारने का अधिकार है..भले ही कर्मचारी दलित है..लेकिन बीजेपी सांसद पाठक को ये अधिकार कतई नहीं है..मामला थाने में दर्ज करा दिया गया..पुलिस ने रिपोर्ट लिख भी ली है लेकिन सांसद के खिलाफ कुछ नहीं हुआ..बीजेपी अपने मारतेखां सांसद के खिलाफ कुछ होने नहीं देगी  और पुलिस कुछ करेगी नहीं..ऐसे तहसीलदार बहुत आते जाते हैं..और कन्नौज में ऐसे लोग रोज पेले जाते हैं..सांसद वो किसी को भी मार सकता है पीट सकता है गरिया सकता है..ये उसका संवैधानिक अधिकार है..जब से कन्नौज के बीजेपी सांसद ने तहसीलदार को धोया है तब से कन्नौज के लोग और अखिलेश समेत विपक्ष के लोग यही सोच रहे हैं..

 
मायावती का कहना है कि तहसीलदार अरविंद कुमार  दलित हैं ब्राह्मण सांसद उन पर जुल्म कर रहा है..मायावती ने सांसद के विरुद्ध कठोर कार्रवाई की मांग की है..आप मान नहीं रहे हैं तो ये ट्वीट देख लीजिए..कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने भी बीजेपी सांसद सुब्रत पाठक के हमले के शिकार तहसीलदार की मासूम बेटी के मनोभावों के हवाले से घटना पर अफसोस जताया है ..मायावती ने क्या कहा है वो सुन लीजिए फिर कन्नौज के बारे में और कुछ बताएंगे..मायावती ने कहा कि ‘उत्तर प्रदेश के कन्नौज जिले में ईमानदारी से ड्यूटी कर रहे एक दलित तहसीलदार के साथ अभी हाल ही में वहां के बीजेपी सांसद ने जो मारपीट व दुर्व्यवहार आदि किया है, अति शर्मनाक है। लेकिन दुख की बात यह है कि सांसद अभी भी जेल में जाने की बजाय बाहर ही घूम रहा है, जिससे पूरे प्रदेश में दलित कर्मचारियों में जबरदस्त रोष व्याप्त है..ऐसे में मुख्यमंत्री को चाहिए कि वे इस मामले में जरूर सख्त कदम उठायें ताकि यह सांसद आगे कभी भी ऐसी हरकत न कर सके। साथ ही पूरे प्रदेश में,खासकर दलित कर्मचारियों के साथ आगे ऐसा कोई भी बर्ताव न हो तो इसके लिए भी इनको अपने इस सांसद के विरुद्ध तुरंत कठोर कार्रवाई करनी चाहिए। ’

वियो- कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने अमर उजाला में छपी खबर व फोटो को आधार बनाकर फेसबुक पर दिल्ली से पोस्ट की है..प्रियंका ने लिखा है, ‘भाजपा सांसद द्वारा कन्नौज के एक तहसीलदार पर किए गए हमले के बाद तहसीलदार की बेटी सहमी हुई है। इस खबर ने बड़ा दुखी कर दिया। ये बच्ची देखती होगी कि जब सब घर पर हैं तब उसके पिता काम पर जा रहे हैं और फिर उसने अपने पिता पर हमला होते देखा। अत्यंत निंदनीय।’ अखिलेश यादव ने ट्वीट में लिखा है, सत्ता पक्ष का सांसद एक दलित अधिकारी को मारे या उनका कार्यकर्ता किसी डॉक्टर को, तब भी कोई कार्रवाई नहीं हो रही है..अखिलेश यादव ने बीजेपी सांसद पर रासुका लगाने की मांग की है..

Comments