आजम का मामला रामगोपाल ने चुटकी में सुलझा दिया, अखिलेश बोले वाह

आजम खान ने महिला स्पीकर पर आपत्तिजनक टिपप्णी कर दी थी..पूरा सदन आग बबूला था..भयंकर हंगामा था..आजम पर माफी मांगने का दबाव लेकिन आजम माफी मांग नहीं रहे थे..वो अड़े थे कि उनकी भावना गलत नहीं थी स्पीकर को जो भी बोला है वो बहन के नाते बोला है..आजम खुद को सही मान रहे..लेकिन सदन उनको गलत मान रहा था.

 टीवी चैनल बेशर्म आजम लिख रहे थे. कुछ अश्लील आजम कुछ तो बहुतकुछ लिख रहे थे. सपा के हाथ से मामला फिसल रह था. अखिलेश आजम के साथ खड़े थे लेकिन बात बन नहीं पा रही थी. तब राज्यसभा से चलकर रामगोपाल यादव आए. अखिलेश और आजम के कान में ऐसा मंत्र डाला कि आजम ने झट से माफी मांग ली. और एक बार नहीं दो बार माफी मांगी और अपने मिशन पर लग गए.

राम गोपाल यादव की युक्ति काम कर गई थी लेकिन ये युक्ति थी क्या..जो आजम इस्तीफा देने को तैयार थे लेकिन माफी मांगने को तैयार नहीं थे उन्होंने सेकेंड भर में माफी कैसे मांग ली..ऐसा क्या कह दिया था राम गोपाल यादव ने..तो सुनिये राम गोपाल यादव ये समझ चुके थे आजम ने बोला भले गलत भावना से ना हो लेकिन जो बोला है वो बोल गलत हैं.

बीजेपी इस मुद्दे को छोड़ने वाली है नहीं. इस चक्कर में उन्नाव वाला मुद्दा रहा जा रहा है. जब हमें बीजेपी को घेरना चाहिए उस समय हम खुद घिरे हुए हैं. बस फिर क्या था. आजम को समझाया समझदार आजम समझ गए. तत्काल माफी मांग ली.

कहते हैं रामगोपाल के कहने पर समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सदन की बैठक शुरू होने से पहले संसद भवन परिसर में चर्चा की. अखिलेश रामगोपाल का इशारा समझ चुके थे.  सोमवार को सदन में आज़म ख़ान ने जैसे ही माफ़ी मांगी वैसे ही अखिलेश ने उन्नाव में कुलदीप सिंह सेंगर के रेप और ट्रक से पीड़िता को कुचलवाने का मुद्दा उठा दिया.

इसी के साथ गुरुवार से चल रहे आज़म ख़ान एपिसोड पर सोमवार को सदन शुरू होते ही पर्दा गिर गया.

Comments