इमरान खान को पाकिस्तान की एक लड़की ने प्रधानमंत्री बनाया: सच्ची कहानी


Google Image
अपनी चुनावी रैलियों में नवाज के लिए मोदी का गद्दार यार का नारा लगाने वाले इमरान खान पाकिस्तान के नए नव निर्वाचित प्रधानमंत्री हो गए हैं..इमरान खान ने ऐलान किया वो पीएम हाउस में नहीं रहेंगे..सर्जिंकल स्ट्राइक के बाद इमरान के तेवर भारत के लिए बहुत सख्त हो गए थे..लेकिन अब इमरान खान भारत से दोस्ती चाहते हैं..इमरान अपने भाषण में भारत से दोस्ती करने के लिए 2 मिनट 42 तक बोले..लेकिन भारतीय मीडिया से नाराज हैं..उनका कहना है भारत की मीडिया में मुझे ऐसे पेश किया जा रहा है जैसे मैं बॉलिवुड फिल्मों का कोई विलेन हूं.. मैं वो पाकिस्तानी हूं जो क्रिकेट की वजह से भारत के ज्यादातर लोगों को जानता है..



ये पहली बार है..जब पाकिस्तान की सियासत का फ्लैवर बदला है.. इस फ्लेवर में रंगीनियत का दीदार भी है.. और मसरुफियत का एहसास भी है..भले उम्र 60 पार की हो गई हो... लेकिन दिल अभी भी जवानी के जज्बातों से लबरेज़ है..इसलिए पाकिस्तान में इमरान खान के चाहने वालों में महिलाओं की तादाद कहीं ज्यादा हैं..इमरान खान पिछले 22 सालों से पाकिस्तान की सियासत में हैं..लेकिन ये पहली बार है..जब उन्हें सीरियसली लिया गया..इमरान की जिंदगी में अगर बुशरा नहीं आई होती इमरान खान पीएम भी नहीं बन पाते..इमरान खान तीन निकाह कर चुके हैं...पहली पत्नी जेमिमा.. दूसरी मेहर और तीसरी बुशरा..जो मौलवी रह चुकी हैं.. बुशरा के पास अक्सर इमरानी समस्याएं लेकर जाते थे..एक दिन बुशरा ने कहा कि अगर इमरान तीसरा निकाह कर लें..तो पाकिस्तान के वजीर ए आजम बन जाएंगे..इमरान ने बुशरा की बात मानते हुए..खुद बुशरा से ही निकाह कर लिया..


जेमिमा से 1995 में शादी की थी..जिसके बाद 2004 में दोनों का तलाक हो गया था..तलाक की वजह जर्नलिस्ट रेहम खान थी..जिस पर दूसरी बार इमरान ने दिल हारा गए थे..लेकिन ये रिश्ता भी कम वक्त ही चल पाया..और आखिर में बुशरा पर जाकर इमरान टिक पाए..जिसने इमरान को सत्ता के शिखर तक पहुंचा दिया... 

Comments