इसलिए BJP को 'कैंची वाली' सरकार कहते हैं अखिलेश ?

'कैंची वाली' सरकार 

डायल 100 किसके दिमाग की उपज थी अखिलेश की
1090 का सपना यूपी में किसने साकार किया अखिलेश ने
18 लाख लैपटॉप यूपी में किसने बांटकर दिखाए अखिलेश ने
लखनऊ में मेट्रो चलाकर किसने दिखाई अखिलेश ने
आगरा एक्सप्रेस-वे बनवाकर गाड़ियां और जंगी जहाज दोनों किसने दौड़ाए अखिलेश ने
लखनऊ में एशिया का सबसे बेहतर बस अड्डा किसने बनवाया अखिलेश ने
नोएडा में सबसे बड़ी सैमसंग फैक्ट्री का काम किसके समय शुरू हुआ अखिलेश के
पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का शिलान्यास किसने किया था अखिलेश ने
इन सब योजनाओं को बिना क्रेडिट दिए अपना किसने कहा योगी आदित्यनाथ ने




बात ये नहीं है कि अखिलेश के काम को योगी सरकार अपना काम बता रही है..ये सरकारों की बातें हैं..एक सरकार जाती है तो दूसरी सरकार आगे का काम शूरू करती है..लेकिन सवाल ये है कि अगर यही करना था तो  योगी सरकार #kamboltahay का नारा देने वाली समाजवादी सरकार के कामों को झूठला क्यों रही थी..जाने दीजिए अखिलेश ने जो किया वो किया..लेकिन योगी सरकार अब तक अखिलेश के कामों को आगे बढ़ाने के अलावा कुछ नहीं कर पाई है...लैला मजनूं को पार्कों से खदेड़ने के अलावा कुछ ऐसा नहीं किया है जिससे योगी सरकार को यूपी में याद रखा जाता..



अखिलेश यादव पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे






जो लोग बूचड़खानों को बंद कराने
खुद झाड़ू लगाने का नाटक करने को
मुस्लिम यूनिवर्सिटी में दलितों के आरक्षण की वकालत करने को
हिंदू हूं इसलिए ईद ना मनाने के तर्क देने वाले जुमलों को 






यूपी का विकास मान रहे हैं वो ये ब्लॉग पढ़ना छोड़कर अभी चले जाएं...क्योंकि यहां बात विकास की हो रही है...बकवास की नहीं..सवाल यूपी की बीजेपी सरकार और उनके प्रशासन पर इसलिए भी खड़े होते हैं कि आज तक योगी की टीम यूपी के विकास का ऐसा कोई मॉडल नहीं खोज पाई जो अखिलेश के कामों से बेहतर होता...उत्तर प्रदेश सरकार के पास कोई ऐसा विजन नहीं है जिससे वो ये बता सकें कि हमारा 5 साल का अपना टारगेट क्या है..हमें 5 साल बाद लोग क्यों याद रखें...

योगी सरकार ने लैपटॉप देने का वादा किया था उसका कोई पता नहीं है
लैपटॉप के साथ फ्री वाईफाई देने का वादा किया था उसे भूल गई
अखिलेश सरकार के भ्रष्टाचार खोलने का वादा किया था वो भी नहीं कर पाई
गोमती रिवर फ्रंट में बहुत बड़े घोटाले की अफवाह फैलाई थी वहां भी कुछ नहीं मिला
उल्टा गोमती साफ करने गए योगी के अधिकारियों ने कचरा घोटाला कर दिया


आजमगढ़ में पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का शिलान्यास करते मोदी


ले देकर योगी सरकार ने अब तक यूपी इनवेस्टर समिट में एमओयू साईन करने की  खुशी मना रही थी वहां भी उद्योगपतियों को आगरा एक्सप्रेस का उदाहरण देखर इन्वेस्टर्स को बुलाया एमओयू साईन कराया.. MOu मतलब विकास के लिए मेमोरंडम ऑफ अंडरस्टैंडिंग इसका मतलब ये नहीं है कि विकास के लिए पैसा आ गया ये दो या दो से ज्याादा पक्षों के बीच हुए समझौते का दस्तावेज होता है..इसके बाद कंपनी कब आएगी...कब विकास यूपी में दौड़ता हुआ आएगा कोई नहीं जानता...मौजूदा तौर पर मोदी की योजनाएं हैं जो गिनाई जा सकती हैं लेकिन योगी सरकार की एक भी योजना ऐसी नहीं है जिसका नाम लेकर यूपी गर्व से छाती चौड़ी कर सके...बात बीजेपी की नहीं हो रही है व्यक्तिगत योगी के हाथों सूबा सौंपकर (हिंदू मुस्लिम करने वालो को छोड़कर) बाकी सबको निराशा हाथ लगी है.

योगी सरकार आने के बाद किसानों के खेत सांड़ चर रहे हैं
गाय सड़कों पर घूम रही हैं
गौशालाओं की बात हुई थी लेकिन गौ माता की हालत बदतर है
सड़कों को गड्ढा मुक्त करने की बात हुई थी
गांवों में 18 घंटे बिजली देने की हुई थी
तीन मुख्यमंत्री होने के बाद भी यूपी तरक्की के लिए तरह रहा है


बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने मोदी को घेरा


अगर अखिलेश यादव यूपी की योगी सरकार पर कैंची वाली सरकार होने का आरोप लगाते हैं तो इसमें  कहीं से भी कोई भी झूठ नजर नहीं आता..योगी सरकार की स्पीड अगर यही रही.. अगर इस सरकार की सोच में कोई नवीनता नहीं आई..अगर युवाओं को ऐसे ही नकारते रहे...और हिंदू मुसलमान के तराजू पर सब कुछ तोलते रहे तो अगला मौका मिलना असंभव है..क्योंकि 2019 के लिए सर्वे अभी से ये कहने लगे हैं कि अगर गठबंधन मिलकर लड़ा तो बीजेपी 35 सीटों तक सिमट जाएगी..


(विचार लेखक के अपने हैं..आपत्ति हो या धमकी देनी हो तो कमेंट में आ सकते हैं)


Comments

Popular Posts