यूपी के पूर्व मुख्यमंत्रियों से बंगले खाली कराए जाएंगे



ये आपसे गैस सब्सिडी के  दो चार सौ रूपए छोड़ने की अपील करते हैं...लेकिन खुद सब्सिडाइसड सरकारी घरों में रहेंगे...पद चला गया कुर्सी चली गई लेकिन सरकारी ऐश जिंदगी भर करते रहेंगे...लखनऊ में 2 हजार रूपए में माचिस की डिब्बी जितना कमरा रहने को किराए पर मिलेगा..और दो हजार में कोई कमरा देगा भी नहीं कि इस भर संदेह है लेकिन राजनाथ सिंह बीजेपी से केंद्रीय गृह मंत्री हैं यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री रह चुके हैं..इस महान उपलब्धि के लिए जीवन भर के लिए घर मिला हुआ है..सभी पूर्व मुख्यमंत्रियों के घर इतने बड़े हैं कि किसान का  खेत छोटा पड़ जाए...क्रिकेट मैच आराम से खेल सकते हैं...बारात मजे में टिका सकते हैं...सेना चाहे तो रंगरूटों की दौड़ करा सकती है..गायों के चरने का चारागाह बनाया जा सकता है...और किराया मात्र 2 हजार...हां सिर्फ दो हजार..मार्केट में इसी घर का किराया 6 लाख रूपए तक बैठता है...लेकिन नेताजी ने यूपी का पूर्व मुख्यमंत्री होने का जो तीर मारा है उसका ईनाम है जिंदगी भर के लिए सरकारी बंगला...लेकिन ्अब ये बंगले छिनने वाले हैं....


अखिलेश यादव मामयावती...मुलायम सिंह और राजनाथ सिंह जैसे पूर्व मुख्यमंत्री बेघर होने वाले हैं..सुप्रीम कोर्ट का आदेश हो चुका है..अब यूपी के राज्य संपत्ति विभाग को कार्रवाई करनी है..यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री जिन बंगलों में रहते हैं, उनमें से कुछ तो मौजूदा सीएम के बंगले से भी आलीशान हैं..यूपी में जब भी जो सीएम रहे, उन्होंने अपने सरकारी बंगले को सजाने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी। इनमें मायावतीने सबको पीछे छोड़ दिया..पहले उन्होंने 13ए और 2,माल एवेन्यू बंगले को एक साथ मिला लिया..इसकेबाद उसकी साज-सज्जा में 86 करोड़ खर्च कर दिए..मायावती का बंगला ढाई एकड़ में है..
मुलायम सिंह यादव और अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी सीएम रहते हुए पांच व्रिक्रमादित्य मार्ग और चार विक्रमादित्य मार्ग पर मिले आवास पर करोड़ों रुपये खर्च किए। खास बात यह है कि नियमानुसार राज्य संपत्ति विभाग इन बंगलों में रेनोवेशन और मरम्मत पर अधिकतम 25 लाख रुपये खर्च कर सकता है। इससे ज्यादा खर्च के लिए कैबिनेट का अप्रूवल जरूरी है, लेकिन नियमों को दरकिनार कर कुछ बंगलों को लखनऊ के एक मशहूर आर्किटेक्ट की देखरेख में संवार कर करोड़ों खर्च किए गए...


मुलायम और मायावती को आवंटित बंगला सभी पूर्व सीएम को मिले बंगलों में सबसे बड़ा है। कारपेट एरिया के हिसाब से मायावती का बंगला जहां 2164 वर्ग मीटर का है, वहीं मुलायम का घर 2436 वर्ग मीटर का। इसके बाद अखिलेश यादव का बंगला 1535 वर्ग मीटर और कल्याण सिंह का बंगला (2, माल एवेन्यू) 1488 वर्ग मीटर का है। एनडी तिवारी का बंगला 1, माल एवेन्यू 1056 वर्ग मीटर का है। इन सबमें सबसे छोटा बंगला राजनाथ सिंह का 4, कालीदास मार्ग है। इसका क्षेत्रफल सिर्फ 705 वर्ग मीटर है। 
यूपी के पूर्व सीएम को मामूली किराए पर ये बंगले आवंटित हैं। अगर वर्तमान बाजार भाव के हिसाब से किराया आंका जाए तो लाखों में होता है, जबकि उनसे सरकारी किराए के नाम पर कुछ हजार रुपये ही लिए जा रहे हैं। जैसे माया-मुलायम के बंगले का बाजार के हिसाब से किराया पांच से छह लाख रुपये प्रतिमाह होता है जबकि उनसे सिर्फ 4293 रुपये ही लिए जा रहे हैं। 

नियम के मुताबिक राज्य सम्पत्ति विभाग किराया बंगले के क्षेत्रफल के मुताबिक तय करता है..वहीं, बंगले का किराया दस हजार रुपये से ज्यादा नहीं हो सकता.. इसके ऊपर वॉटर टैक्स और नगर निगम का टैक्स अलग से लिया जाता है। अगर किसी भी बंगले पर ढाई लाख से ज्यादा मेंटनेंस पर खर्च किए गए हैं तो उस बंगले पर 2000 रुपये अतिरिक्त वसूले जाते हैं। यह सब मिलाकर भी किराया 12,000 से 14,000 के बीच ही हो पाता है। 




5 विक्रमादित्य मार्ग पर मुलायम सिंह यादव के घर का किराया 4393 रुपये महीना है...मार्केट के हिसाब से भाव 6 लाख बैठता है....

माल एवेन्यू, 13 'ए' पर मायावताी का बंगला है..मार्केट में मिलने वाले किराये के घरों के हिसाब से माया के बंगले का किराया भी 6 लाख के आसापास बैठता है लेकिन वो देती हैं 4 हजार दो सौ 92 रूपए महीना
4 व‍िक्रमाद‍ित्‍य मार्ग लखनऊ में अखिलेश का बंगला है मुलाय और अखिलेश का बंगला सटा हुआ ही है..इनके घर का किराया मार्केट के हिसाब से या आम लोगों को किराये पर मिलने वाले मकान के हिसाब से 5 लाख के आसपास बैठता है लेकिन ये भी सरकार को देते हैं 4 हजार 2 सौ सत्तर रूपए

 1A माल एवेन्यू में आरोही नाम से  रसिया मुख्यमंत्री रह चुके एनडी  तिवारी का बंगला है..लखनऊ में किराये पर मिलने वाली प्रॉपर्टी के हिसाब से इनके घर का किराया भी साढ़े 4 लाख रूपए के लगभग है लेकिन ये भी सरकारी बंगले में मौज काटकर देते हैं मात्र 4हजार 2 सौ 37 रुपये

2 माल एवेन्यू, लखनऊ में वर्तमान राजस्थान के गवर्नर कल्याण सिंह का बंगला है...इनके बेटे इस बंगले में मजे करते हैं...ये भी सरकार को किराये के तौर पर मात्र चार हजार रुपए ही थमाते हैं... 


 4 कालीदास मार्ग, लखनऊ में राजनाथ सिंह का बंगला सबसे छोटा है लेकिन पूर्व मुख्यमंत्री होने की मलाई इनको भी मिल रही है...ये भी सरकार को मात्र 2 हजार 4 सौ 82 रूपए दे रहे हैं....लखनऊ में 2 हजार में माचिस की डिब्बी जितना किराए का कमरा मिलता है...वो भी बिना लैट्रिन बाथरूम वाला...लेकिन इनके बंगलों में खेती तक की जा सकती है और किराया 2 हजार रूपए...


इन पूर्व मुख्यमंत्रियों में ज्यादातर के एक से ज्यादा राज्यों में बंगले हैं..जैसे राजनाथ सिंह का दिल्ली में गृह मंत्री और सांसद होने के नाते बंगला है..मुलायम सिंह का अकबर रोड पर बहुत बड़ा बंगला है...कल्याण सिंह का राजस्थान में राज्यपाल होने के नाते बंगला है..एनडीतिवारी  उत्तराखंड से मुख्यमंत्री रह चुके हैं तो उनका वहां भी बंगला है...मायावती का भी दिल्ली  में बहुत बड़ा बंगला है...माया मुलायम और अखिलेश के बंगले को छोड़कर  बंगले ज्यादातर खाली रहते हैं और उनके नाते रिश्तेदार और चेले चंपू विश्राम करते हैं...

x

Comments