किम जोंग उन 2020 तक 60 परमाणु हथियारों का मालिक होगा

google image   


मेरिका और दक्षिण कोरिया को तबाह कर देना सिर्फ किम की सनक नहीं है ..उत्तर कोरिया के जिद्दी और सनकी तानाशाह..किम जोंग उन की...ये बात किम ने तब कही थी, जब वो ,सबसे शक्तिशाली और खतरनाक हाइड्रोजन बम के धमाके से दुनिया के कई इलाकों में भूकंप ला चुका था... लेकिन नॉर्थ कोरिया के तानाशाह किम जॉन्ग उन की ये धमकी... पूरी मानवता के लिए किसी भूकंप से कम नहीं है.... धमाके की खबर तो सब ने जान ली ..लेकिन अब उसका असर भी जान लीजिए


उत्तर कोरिया के पड़ोसी देश चीन में दुनिया के दिग्गज जुटे... जिसमें खुद को दुनिया की दूसरी महाशक्ति मानने वाले रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और अमेरिका को चैलेंज देने वाले चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग भी शामिल थे.. लेकिन नॉर्थ कोरिया पर लगाम लगाने की हिम्मत इनमें से किसी में नहीं... इतना ही नहीं महाशक्ति अमेरिका के राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप की भी तानाशाह किम जोंग के सामने एक नहीं चली... और उसी का नतीजा था...ये हाइड्रोजन बम का धमाका 


किम का इंटर कॉन्टिनेंटल बैलिस्टिक मिसाइल के लिए डिजाइन किए गए हाइड्रोजन बम का परीक्षण पूरी तरह सफल रहा  नॉर्थ कोरिया ने हाइड्रोजन बम बनाने के दावा किया था अब ये पुष्टि भी हो चुकी है कि किम के पास हाइड्रोडन बन है..जिसे ICBM यानी इंटरकॉन्टिनेंटल बैलिस्टिक मिसाइल में लोड किया सकता है... सबसे पहले ये जान लीजिए कि हाइड्रोजन बम क्या है और नॉर्थ कोरिया के पास मौजूद ये हथियार क्यों दुनिया का नया सरदर्द बन गया

न्यूक्लियर बम दो तरह के होते हैं...पहला Atomic और दूसरा Hydrogen..जिसे thermonuclear के नाम से भी जाना जाता है....

1- दोनों में अंतर यही है...कि Atomic बम में Fission यानी Atom के टूटने से अचानक ऊर्जा पैदा होती है...जबकि हाइड्रोजन बम में एटम के Fusion यानी जुड़ने से उर्जा पैदा होती है....
2-  हाइड्रोजन बम.... किसी Atomic बम यानी परमाणु बम की तुलना में 1000 गुना ज्यादा ताकतवर होता है
3- आकार की बात करें तो हाइड्रोजन बम, एटम बम से छोटा होता है...और इसे मिसाइल में आसानी से फिट किया जा सकता है... इस बम का एक विस्फोट कई शहर तबाह करने की ताकत रखता है 
और नॉर्थ कोरिया के तानाशाह किम जॉन्ग ने मानव जाति का विनाश करनेवाले इसी बम को बनाने का दावा किया है...
4- दक्षिण कोरिया के मौसम विभाग ने भी दावा किया है कि उत्तर कोरिया के  परमाणु परीक्षण की क्षमता 50 से 60 किलोटन के बीच रही.. जो नॉर्थ कोरिया के पिछले परमाणु परीक्षण से करीब 6 गुना ज्यादा ताकतवर है.. नॉर्थ कोरिया के मुताबिक हाइड्रोजन बम के सभी उपकरण देश में ही तैयार किए गए हैं और इसकी क्षमता सैकड़ों किलोटन है..

5- नॉर्थ कोरिया के मुताबिक उसका हाइड्रोजन बम किसी और परमाणु बम से 9 गुना ज्यादा ताकतवर है.. 
6- नॉर्थ कोरिया ने कुछ दिनों पहले जापान के ऊपर अपनी मिसाइल का परीक्षण किया... और जुलाई 2017 में 2 बार ICBM हॉसॉन्ग-14 का सफल परीक्षण किया... दावा है कि ये मिसाइल दूसरे महाद्वीप यानी अमेरिका के ज्यादातर हिस्सा तक हमला कर सकती है

7- दुनिया के लिए सबसे बड़ा खतरा है कि अभी तक किसी भी युद्ध में हाइड्रोजन बम का इस्तेमाल नहीं किया गया है...पहले विश्वयुद्ध में तोप और गोलों का इस्तेमाल किया गया था.. दूसरे विश्व युद्ध में जापान के हिरोशिमा और नागासाकी में परमाणु बम गिराए गए थे... आशंका है कि अगर दुनिया में तीसरा विश्वयुद्ध हुआ तो उसमें हाइड्रोजन बम का इस्तेमाल ज़रूर होगा.. और यही धरती के विनाश की वजह बनेगा...

धरती का विनाश यानी ऐसा धमाका अगर अब दोबारा हुआ तो समझिए कि दुनिया का बचना नामुमकिन होगा... उत्तर कोरिया की रफ्तार देखिए... लगातार वो धरती को तबाह करने वाले हथियार जुटा रहा है... 

 2006 में उत्तर कोरिया ने अपना पहला परमाणु टेस्ट किया
2016 में कोरिया ने दो बार परमाणु परीक्षण किया 
अब अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप के आने के बाद 2017 में उसने पहला परीक्षण किया है
ये हाइड्रोजन बम का परीक्षण है 
लेकिन आशंका है कि 2020 तक किम जॉन्ग के पास 60 परमाणु हथियार बनाने की क्षमता होगी
और फिर ये तानाशाह क्या कदम उठाएगा इसकी कल्पना भी मुश्किल है..बस कहा जा सकता है तो ये कि आज के हालातों को देखते हुए दुनिया महाविनाश के मुहाने पर खड़ी है।

Comments