टमाटर के लिए 'बॉडीगार्ड'..सब पर भारी 'लाल तरकारी' : व्यंग्य

संगीनों के साए में सब्जी 

चोरों और लुटेरों के टारगेट पर अब टमाटर हैं |सोना चांदी और हीरे जवाहरात चोरी से भयमुक्त हो चुके हैं | अब देश के भीतर नए तरह का टमाटर खतरा उभरकर सामने आ रहा है |बंदूक लिए मूछ वाले लंबे चौड़े ये भाईसाहब टमाटर की रखवाली के लिए हैं | ऐसी सुरक्षा आपने ATM कैश वैन के आसपास या सोने चांदी की दुकानों के बाहर ही देखी  होगी | लेकिन टमाटर की सुरक्षा में एक दो नहीं पूरे चार जवान दोनाली बंदूक के साथ रखवाली के लिए तैनात हैं | ताकि ग्राहक के अलावा  टमाटर गाड़ी के आस पास परिदा भी पर ना मार सके..

                   टमाटर की ये Z यानि जबरदस्त श्रेणी वाली सुरक्षा | इसलिए की गई
है क्योंकि टमाटर के दाम सातवें आसमान पर हैं | 5-10 रूपए किलो बिकने वाली मामूली सब्जी 100  रूपए किलो बिक रही है | जिस जगह पर टमाटर को VVIP ट्रीटमेंट दिया जा रहा है वो जगह इंदौर की अहिल्या बाई होलकर सब्जी मंडी है| ये सुरक्षा घेरा इसलिए लगाया गया है क्योंकि कुछ दिन पहले मुंबई में एक सब्जी की दुकान से 300 किलो टमाटर चोरी हो गया था | और देश के किसी भी दूसरे कोने में ऐसी आपराधिक और निंदनीय घटना  दोबारा ना होने पाए इसलिए मध्य प्रदेश में टमाटर को सुरक्षा का विशेष दर्जा दिया गया है | ताकि चोर हर तरह की चोरी का सपना देख लें, लेकिन टमाटर चोरी के बारे में सोच भी ना पाएं

          सब्जी मंडी में टमाटर सुरक्षित है..लेकिन अगर आप टमाटर खरीदने की सोच रहे हैं तो आपकी जेब ऑटोमैटिक डाका पड़ जाएगा क्योंकि खराब मौसम के कारण टमाटर की पैदावर कम हुई है और जो टमाटर मंडी में है वो सुरक्षा घेरे में है..

Comments